, , , , , , ,

बेटी बचाओ जैसे अभियानों की जरूरत आखिर कब तक रहेगी हमारे देश में? Beti Bachao, Beti Padhao, Social issues, Hindi Post, Articles, Lekh

19:59

आप सबको प्रणाम,
मैं विमिशा, इस दुनिया में कुछ ही दिनों पहले आयी और अपने माँ-पा की नज़रों से इस दुनिया को देख रही हूँ. माँ-पा की दृष्टि से ही मुझे अहसास हुआ कि हमारे देश में बेटी बचाओ अभियान विभिन्न रूपों में दशकों से चल रहा है. बेटी बचाओ जैसे अभियानों की जरूरत आखिर कब तक रहेगी हमारे देश में, यह बात अनायास ही मेरे जैसी अनगिनत लड़कियों के सामने खड़ी है और आगे भी यही प्रश्न खड़ा रहने वाला है. क्या इसका उत्तर है कोई? वर्तमान सामजिक परिस्थितियों में यह अभियान बिलकुल न्यायोचित हो सकता है, किन्तु मेरा प्रश्न उन सामाजिक परिस्थितियों से ही है? क्या मेरी माँ नहीं रहती तो मैं यह दुनिया देख पाती? क्या हम सबकी माँ नहीं रहती तो हम दुनिया में आ पाते? 
तो फिर माँ को बचाने का अभियान हमें चलाने की जरूरत पड़े तो क्या यह सृष्टि का सर्वाधिक शर्मनाक विषय नहीं है?
जवाब की प्रतीक्षा रहेगी, शायद कोई हल निकले!
Beti Bachao, Beti Padhao, Social issues, Hindi Post, Articles, Lekh

beti bachao beti padhao, Social issues, Hindi Post, article

You Might Also Like

0 comments

SUBSCRIBE NEWSLETTER

Get an email of every new post! We'll never share your address.

Follow by Email

Search This Blog

Archive